bhojpurimanthan
This post has been viewed 394 times

कांग्रेसी एगो गरीब के बेटा के प्रधानमंत्री के कुर्सी पर नईखन देखल चाहत: भाजपा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हत्या करे से जुडल कथित साजिश के मामला में विपक्ष के बयान के निराश करे वाला बतावत केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह एकरा का अंतराष्ट्रीय साजिश करार देले। ओने बिहार भाजपा के अध्यक्ष नित्यानन्द राय कहले कि कांग्रेस के नेता एगो गरीब के बेटा के प्रधानमंत्री के कुर्सी प नईखन देखल चाहत।

पुणे पुलिस के हाथे लागल एगो कथित चिट्ठी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जईसन आत्मघाती हमला में मारे के साजिश के खुलासा के बाद कांग्रेस नेता संजय निरूपम कहले कि, “जदी ए मामला में सच्चाई बा त एकर जांच होखे के चाही। लेकिन जब-जब नरेंद्र मोदी के लोकप्रियता में गिरावट आवेला, तब-तब अयीसन खबर चले लागेले।”

संजय निरूपम के ए बयान के दुर्भाग्यपूर्ण बतावत भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानन्द राय कहले कि , “प्रधानमंत्री के हत्या के साजिश के खुलसा प कांग्रेस के नेता के बयान दुर्भाग्यपूर्ण बा।” उ कहले कि विपक्ष के देश में चारों ओर होखत विकास हजम नईखे होखत एही ऊटपटाँग बयान देतारे।

नित्यानन्द कहले, “प्रधानमंत्री के हत्या के साजिश देश के मान-सम्मान के खिलाफ बा। देश के अस्मिता के खिलाफ बा।” ए मामला में विपक्ष के घेरत नित्यानन्द कहले, “गरीब के बेटा के प्रधानमंत्री के कुर्सी प कांग्रेसी नईखन देखल चाहत।” उ कहले कि केहु कतनों साजिश रच लेवे लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुछ ना होई काहेंकी जनता के आशीर्वाद उनुका संगे बा।

ओने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ए पूरा मामला के अंतराष्ट्रीय साजिश के हिस्सा बतवले। गिरिराज कहले, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अंतराष्ट्रीय साजिश रचल जाता। बहुत जल्दी ए साजिश के खुलासा हो जाई।” उ ए मामला में विपक्ष के बयान के निराश करेवाला बतवले।

मालूम रहे कि समूचा विपक्ष ए मामला में उच्च स्तरीय जांच के मांग कईले बा। लेकिन, इ पहिला मौका नईखे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हत्या के कथित साजिश के खुलासा भईल बा। लेकिन आज तक कवनो मामला के जांच रिपोर्ट नईखे आइल। इहो नईखे मालूम कि जांच भईलो बा कि ना।

एकरा संगही एगो सवाल देश के भीतरी सुरक्षा के जिम्मा लेवे वाली एजेंसी आईबी प समेत समूचा खुफिया तंत्र के क्षमता अवुरी कामकाज प खाड़ा हो गइल बा। सवाल उठता कि चीज़ के पर्दाफाश पुणे पुलिस कईलस ओकर भनक देश के प्रमुख खुफिया एजेंसी के काहें ना लागल?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *